भारत के प्रमुख दर्रे व उनके राज्य।Bharat ke pramukh darre.

6 Min Read

पर्वत श्रेणियों के मध्य प्राकृतिक रूप से बने हुए रास्ते को दर्रा कहा जाता है।

Contents
जम्मू कश्मीर में स्थित प्रमुख दर्रे।1. पीरपंजाल दर्रा (pir panjal pass)2. जोजिला दर्रा (jojila pass)जोजिला सुरंग : 3. बुर्जिल दर्रा (burjil pass)4.बनिहाल दर्रा (banihal pass) लद्दाख में स्थित प्रमुख दर्रे 1. कारकोरम दर्रा (karkoram pass)2. चांग ला दर्रा (chang la pass)हिमाचल प्रदेश में स्थित प्रमुख दर्रे1. शिपकी ला दर्रा (shipki la pass)2. रोहतांग दर्रा (rohtang pass)अटल सुरंग:3. बड़ालाचा दर्रा (bdalacha pass) उत्तराखंड में स्थित प्रमुख दर्रे1. माना दर्रा (mana pass)2. निनी दर्रा (nini pass) 3. लिपुलेख दर्रा ( lipulekh pass)सिक्किम में स्थित प्रमुख दर्रे1.नाथुला दर्रा ( nathula pass)2. जेलेव्ला दर्रा ( jelevla pass)अरुणाचल प्रदेश में स्थित प्रमुख दर्रे1. बोमडिला दर्रा ( bomdila pass) 2. यांग्याप दर्रा (yangyap pass)3. दिफू दर्रा (difu pass)4. पांगसाऊ दर्रा ( pangsau pass)महाराष्ट्र में स्थित प्रमुख दर्रे1. थाल घाट दर्रा (thaalghat pass)2. भाल घाट दर्रा ( bhalghat pass)मणिपुर में स्थित प्रमुख दर्रे 1. नुजू दर्रा (nuju pass)

जम्मू कश्मीर में स्थित प्रमुख दर्रे।

1. पीरपंजाल दर्रा (pir panjal pass)

जम्मू के दक्षिण पश्चिम में स्थित। जम्मू को श्री नगर से जोड़ता है। यह दर्रा जम्मू से श्रीनगर जाने का सबसे छोटा रास्ता है। लेकिन अब बंद कर दिया गया है।

2. जोजिला दर्रा (jojila pass)

यह दर्रा श्रीनगर को कारगिल और लेह से जोड़ता है। इस की समुद्र तल से ऊंचाई 3528 मीटर है। यह NH 10 पर स्थित है,शीतकाल में अत्यधिक बर्फबारी के कारण बंद रहता है।

इस दर्रे पर जोजिला सुरंग बनी हुई है जो एशिया की दूसरी सबसे बड़ी सुरंग है।

जोजिला सुरंग :

यह सुरंग मई 2018 में बनाई गई हैं।इसकी लंबाई 14.2km है।

3. बुर्जिल दर्रा (burjil pass)

यह दर्रा कश्मीर घाटी को लद्दाख के देवसाई मैदान से जोड़ता है। इसकी समुद्र तल से ऊंचाई लगभग 4100 मीटर है।

4.बनिहाल दर्रा (banihal pass)

यह दर्रा जम्मू के दक्षिण पश्चिम में पीर पंजाल श्रेणी में स्थित है जो जम्मू को श्रीनगर से जोड़ता है। इसकी समुद्र तल से ऊंचाई लगभग 2835 मीटर है।

लद्दाख में स्थित प्रमुख दर्रे

1. कारकोरम दर्रा (karkoram pass)

यह लद्दाख की कारकोरम पहाड़ियो में स्थित है। यारकंद, नारी बेसिन मार्ग इसी दर्रे से गुजरते हैं। यह भारत का सबसे ऊंचा दर्रा है। इसकी ऊंचाई लगभग 5654 मीटर है।

2. चांग ला दर्रा (chang la pass)

यह दर्रा लद्दाख को तिब्बत के टांगत्से शहर से जोड़ता है। इसकी समुद्र तल से ऊंचाई लगभग 5360 मीटर है।

भारत के प्रमुख दर्रे व उनके राज्य।Bharat ke pramukh darre.
Major passes of india

हिमाचल प्रदेश में स्थित प्रमुख दर्रे

1. शिपकी ला दर्रा (shipki la pass)

यह दर्रा हिमाचल प्रदेश को तिब्बत से जोड़ता है। सतलुज नदी इसी दर्रे से भारत में प्रवेश करती है। इस की समुद्र तल से ऊंचाई लगभग 5669 मीटर है।

2. रोहतांग दर्रा (rohtang pass)

यह दर्रा हिमाचल प्रदेश में मनाली से लेह सड़क मार्ग को जोड़ता है। इस दर्रे को हिमाचल प्रदेश के लाहौल स्पीनि जिले का प्रवेश द्वार भी कहा जाता है। इस की समुद्र तल से ऊंचाई लगभग 3979 मीटर है। इसी दर्रे पर अटल सुरंग का निर्माण किया गया है।

अटल सुरंग:

रोहतांग दर्रे पर बनाई गई यह सुरंग विश्व की सबसे बड़ी सुरंग है। इस सुरंग की आकृति घोड़े के नाल के समान है। इसकी लंबाई लगभग 9.02 km तथा चौड़ाई 10 मीटर है। यह सुरंग मनाली को लेह से जोड़ती हैं।

3. बड़ालाचा दर्रा (bdalacha pass)

यह दर्रा भी हिमाचल में मनाली को लेह से जोड़ता है। इस की समुद्र तल से ऊंचाई लगभग 4890 मीटर है।

उत्तराखंड में स्थित प्रमुख दर्रे

1. माना दर्रा (mana pass)

यह दर्रा महान हिमालय की कुमायूं पहाड़ियों में स्थित है। इसकी समुद्र तल से ऊंचाई लगभग 5611 मीटर है। यह दर्रा उत्तराखंड को तिब्बत से जोड़ता है।

2. निनी दर्रा (nini pass)

यह दर्रा भी उत्तराखंड में कुमायूं पहाड़ियों में स्थित है। इसकी समुद्र तल से ऊंचाई 5068 मीटर है।

3. लिपुलेख दर्रा ( lipulekh pass)

उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले में स्थित। यह दर्रा भारत और चीन के मध्य पहला सीमा व्यापार पॉइंट है। कैलाश मानसरोवर यात्रा के लिए इसी दर्रे का उपयोग किया जाता है।

सिक्किम में स्थित प्रमुख दर्रे

1.नाथुला दर्रा ( nathula pass)

सिक्किम राज्य की डोगेक्या श्रेणी में स्थित है। यह दर्रा प्राचीन रेशम मार्ग की एक शाखा है जो भारत तथा चीन के मध्य एक व्यापारिक मार्ग का कार्य करता है। इस दर्रे की समुद्र तल से ऊंचाई 4310 मीटर है।

2. जेलेव्ला दर्रा ( jelevla pass)

यह दर्रा दार्जिलिंग वह चुग्गी घाटी से होकर तिब्बत जाने का मार्ग है जो सिक्किम को तिब्बत की राजधानी ल्हासा से जोड़ता है।

अरुणाचल प्रदेश में स्थित प्रमुख दर्रे

1. बोमडिला दर्रा ( bomdila pass)

यह दर्रा अरुणाचल प्रदेश के उत्तर-पश्चिम में स्थित हैं, जो तवांग घाटी से होकर तिब्बत जाने का मार्ग है यह अरुणाचल प्रदेश को तिब्बत की राजधानी ल्हासा से जोड़ता है।

2. यांग्याप दर्रा (yangyap pass)

यह दर्रा अरुणाचल प्रदेश के उत्तर पूर्व में स्थित है। इसी दर्रे के पास में से ब्रह्मापुत्र नदी भारत में प्रवेश करती है।

3. दिफू दर्रा (difu pass)

यह दर्रा अरुणाचल प्रदेश के पूर्व में म्यांमार सीमा पर स्थित है।

4. पांगसाऊ दर्रा ( pangsau pass)

यह दर्रा अरुणाचल प्रदेश को मांडले (म्यांमार) से जोड़ता है।

महाराष्ट्र में स्थित प्रमुख दर्रे

1. थाल घाट दर्रा (thaalghat pass)

यह दर्रा महाराष्ट्र के पश्चिमी घाट पर स्थित हैं दिल्ली मुंबई के मध्य प्रमुख सड़क व रेल मार्ग इसी दर्रे से होकर गुजरती हैं।

2. भाल घाट दर्रा ( bhalghat pass)

पुणे व बेलगांव के मध्य सड़क तथा रेलमार्ग यही से गुजरते है।

मणिपुर में स्थित प्रमुख दर्रे

1. नुजू दर्रा (nuju pass)

यह दर्रा मणिपुर राज्य के दक्षिण पूर्व में स्थित है। इंफाल से लापू (म्यांमार) जाने का मार्ग इसी दर्रे से होकर गुजरता है

Share This Article